Chhatrapati Shivaji Jayanti: छत्रपती शिवाजी महाराज को लोग क्यू डरपोक बोलते है, इनसे सीखने वाली 5 बड़ी बाते आइए जानते है ।

Chhatrapati Shivaji Jayanti: शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1630 को शिवनेरी दुर्ग में हुआ था हार साल 19 फरवरी को छत्रपती शिवाजी महाराज का जयंती मनाया जाता है आज भारत में इनकी 392वी जयंती मनाई जा रही है शिवाजी महाराज के जीवन शैली से जुड़ी 5 वो बड़ी बाते आज हम इस पोस्ट में जनागे और ये भी जानंगे की क्यू आज भी कई लोग शिवाजी महाराज को डरपोक बोलते है इसके लिए आपको पूरी पोस्ट को पढ़ना होगा आइए जानते है ।

Chhatrapati Shivaji Jayanti

Chhatrapati Shivaji Jayanti: छत्रपती शिवाजी महाराज जिनका नाम सुनते ही लोगों में मोटिवेशन का प्रतिशत हाई हो जाता है शिवाजी महाराज भोसले जो एक महान शासक और रांनीतिकार हुए, जिन्होंने 1674 ईसपी में पशिम भारत में मराठा साम्राज्य की नीव रखी ये वो महापुरुष है जिनके नाम से औरंगजेब थर थर कापता था जब तक औरंगजेब जींद रहा उसके कानों में शिवाजी महाराज का नाम उनके कानों में गूँजता रहा ।

सन 1674 में रायगढ़ में इनका राज्याभिषेक हुआ और ये छत्रपती बने, छत्रपती शिवाजी महाराज जिन्होंने सिर्फ उपदेश देने काम नहीं किया बल्कि अभ्यास में भी ला कर दिखाया जब भी उदाहरण देने की बारी आती थी मातृभूमि की बारी आती थी तो सबसे पहले आगे खरे होते थे छत्रपती शिवाजी महाराज और अपनी साथियों के लिए सबसे बड़ा उदाहरण साबित होते थे ।

एक बार कोई काम अगर अपने किसी साथी को सौप देते थे तो उनकी पूरा भरोषा होता था की वो काम हो जाएगा शिवाजी अपने साथियों को गलतिया भी करने का पूरी छूट दे रखे थे, ताकि वो निडर बन सके और एक महान योद्धा बन सके, यही कारण था की वो अपने साथियों के ह्रदय में इस दृष्टि को बैठा पाए । वो छोटे से छोटे लोगों की बात भी बहुत गौर से सुनते थे और उत्साह के साथ उनके सुझाव को अपने सेना अपने साथियों को बताते और अपने कार्य में शामिल करते थे ।

5 बड़ी बाते सीखने वाली शिवाजी महाराज के जीवन से

Chhatrapati Shivaji Jayanti: सबसे पहले शिवाजी महाराज के जीवन से आप अटलता को सीखिए की कैसे अपने जीवन में आगे बढ़ाना जरूरी है न की एक काम के बाद उसी को खुशी मनाने में अपनी पूरी समय लगा दीजिए और आगे के बारे में सोचिए मत । शिवाजी महाराज अपने समय में वो एक युद्ध जीतते थे तो वो अपनी दूसरी युद्ध को जीतने और उनकी तैयरी में लग जाते थे ऐसा नहीं की वो उसी में जीत में लगे रहते थे । इसका रिजन है की समय बर्बाद ना करना काम की जो स्पीड है उको धीमा न करना ऐसा नहीं की महीनों महीनों तक जश्न मन रहे है ।

छत्रपती शिवाजी महाराज का सबसे पहला बात तो ये सिखाता है की अपने काम के प्रति अटल रहना अटलता अपनी जीवन में लेके आइए ना कि आराम कीजिए ।

दूसरी सबसे बड़ी बात जो छत्रपती महाराज शिवाजी महाराज के जीवन से सीखने को मिलती है ‘नहीं हो सकता की जगह कहना शुरू कीजिए क्यू नहीं हो सकता’ शिवाजी महाराज के जीवन में ऐसे कई बार आया की अगर सामान्य व्यक्ति होता तो वो कह देता की ये तो हो ही नहीं सकता ये तो इंपोसीबल है लेकिन शिवाजी महाराज के जीवन में असंभव शब्द था ही नहीं ।

छत्रपती शिवाजी महाराज को गोरिल्ला युद्ध का जनक माना जाता है गोरिल्ला युद्ध को आप आसान भाषा में समझ सकते है की छुप कर के दुश्मन पर अटैक करना जो एक बार में ही काफी सारा नुकाशन पहुच दे, और ये युद्ध मराठा साम्राज्य की जो राजनीतिक सफलता थी उसका बहुत बड़ा कारण था ।

तीसरी जो बड़ी बात है वो यह सिखाती है की बाल के साथ बुद्धि का भी इस्तेमाल करना बहुत जरूरी है तब ही आप अपने लाइफ में विजेता बन सकते है कितना भी बड़ा दुश्मन क्यू न हो कितना भी बड़ा चैलेंग क्यू ना हो अपनी बुद्धि और बाल से उसे हासिल करने का साहस रखिए ।

छत्रपती शिवाजी महाराज के के जीवन से चौथी बड़ी बात ये सिखाती है की अपने जीवन में डेडीकेसन लेकर आइए समर्पण की भावना होनी चाहिए वो एक दूसरे के लिए समर्पण होता है अपने टीम के लिए समर्पण होता है अपने मतृभूमि के लिए समर्पण होता है अपने कर्तव्य के लिए समर्पण होता है, छत्रपती शिवाजी महाराज जी ने अपने सभी साथियों को ये समर्पण की भवन सिखाई ।

आखिरी बात हो छत्रपती शिवाजी महाराज के जीवन से सीखने को मिलता है इनोवेशन बहुत जरूरी है अपने जीवन में कुछ हमेशा नया ट्राइ करते रहना चाहिए जैसे शिवाजी महाराज अपने जीवन में हर बार कुछ न कुछ नया करते रहे है अपनी मातृभूमि के लिए अपनी साथियों को आगे बढ़ाने के लिए इस लिए ये भी जरूरी है की अपनी जीवन में हमेशा कुछ न कुछ नया करना और सीखते रहना चाहिए ।

Chhatrapati Shivaji Jayanti
——–Chhatrapati Shivaji Jayanti——–

क्यू आज भी लोग उनको डरपोक बोलते है

Chhatrapati Shivaji Jayanti: छत्रपती शिवाजी महाराज को आज भी कई ऐसे लोग आपको मिल जाएंगे जो उनको डरपोक बोलते नजर आ जाएंगे कई लोगों तो सोशल मीडिया पर भी लिख देते है और काही न काही हमरे शिक्षा व्यवस्था भी कुछ ऐसा ही है जो ऐसे आधे अधूरे ज्ञान देती है अपने भी कई किताबों में ऐसा भी पढ़ा होगा की शिवाजी महाराज छुप-छुप के वार करते थे और वो पीठ पीछे वार करते थे काही न काही इस वजह से भी लोग उनको ऐसा बोलते है । आपको बता दे की मई 2023 मे बहुत सी मीडिया ने भी इसके बारे बोल था की कैसे लोग इनको डरपोक बोल रहे है लोग ।

लेकिन आज भी महाराष्ट्र में उनको भगवान का दर्जा दिया गया है लेकिन ये सिर्फ महाराष्ट्र में ही है बाक्की किसी भी राज्य में ऐसा बिल्कुल ही नहीं है लेकिन इसे (Chhatrapati Shivaji Jayanti) बारे में आपको क्या कहना है आप नीचे कमेन्ट कर के बता सकते है हमे ।

इसे भी पढे: दंगल फिल्म में काम करने वाली सुहानी भटनागर की जान क्यू गई जान के आप भी चौक जाएंगे ।

Telegram Group Join Now
Instagram Group Follow Us

1 thought on “Chhatrapati Shivaji Jayanti: छत्रपती शिवाजी महाराज को लोग क्यू डरपोक बोलते है, इनसे सीखने वाली 5 बड़ी बाते आइए जानते है ।”

Leave a Comment