Gyanvapi mosque: ऐसा क्या मिला ज्ञानवापी मस्जिद में की पूरी दुनिया में खलबली मच गए, ASI के रिपोर्ट में ऐसा क्या है जानिए पूरी खबर ।

Gyanvapi mosque: राम मंदिर के बाद ज्ञानवापी में चली रही थी जांच आज जब ASI ने अपना रिपोर्ट जरिया किया तो ऐसा क्या हुआ की पूरी दुनिया में खलबली मच गई जब ASI ने अपना रिपोर्ट सार्वजनिक किया तो बहुत सी जानकारी निकल की सामने आई आइए जानते है ऐसा क्या क्या है ।

Gyanvapi mosque

ज्ञानवापी मस्जिद जीसे काभी काभी आलमगीर मस्जिद भी कहा जाता है, ये मंदिर वानारसी में स्थित एक विवादित मस्जिद है । यह मंदिर काशी विश्वनाथ मंदिर से सटी हुई है, 1669 में मुगल आक्रमणकारी औरंगजेब ने प्राचीन विशेश्वर मंदिर को तोड़ कर यह ज्ञानवापी मस्जिद बना दी ।

ज्ञानवापी एक संस्कृत शब्द है इसका अर्थ ज्ञान का कुआं होता है, 1991 से इस मस्जिद को हटाकर मंदिर बनाने की कानूनी लड़ाई चल रही है । जिसके बाद 2022 से ये ज्यादा ही काफी चर्चा में है मस्जिद के बाजुखाने में 12.8 व्यास का शिवलिंग प्राप्त हुआ है ।

ASI की रिपोर्ट

आज जब ASI ने अपना रिपोर्ट सार्वजनिक की तो पूरी दुनिया में खलबली सी मच गई ऐसा क्या है रेपोर्ट में, ASI के रिपोर्ट ने अपना पूरा 32 पेज से भी ज्यादा पेज की रिपोर्ट को सार्वजनिक कर दिया है। इस रिपोर्ट में ये बार बार जिक्र किया गया है की ये मस्जिद किसी बड़े मंदिर को तोड़ कर ही बनाया गया है ।

इस मस्जिद में बार-बार मंदिर का जिक्र किया गया है क्युकी इस मंदिर में ऐसे ऐसे प्रमाण भी मेले है जो इस बात को सबीत करते है की ये मस्जिद किसि बड़े मंदिर के ऊपर ही बनाए गए है । इस मस्जिद के जो पिलर है वो किसी मंदिर के है इसके ऊपर प्लास्टर लगा के इस मस्जिद का निर्माण किया गया है इस बाद इस मस्जिद में अलग अलग देवी देवता का भी चिन्ह मिले है जैसे की जो खंभे पहले मंदिर का था उसपर प्लैस्टर लगा के बदल दिया गया है और जो भी मंदिर के खंभे पर चिन्ह था उसको मिटा दिया गया है ।

Gyanvapi mosque
——Gyanvapi mosque——

ASI ने रिपोर्ट में कहा है की बर्तमान स्ट्रक्चर पर बड़े ही सिस्टमैटिक तरीके से प्लास्टर का प्रयोग किया गया है, रिपोर्ट में यह दावा किया गया है की जिन पिलर्स पर प्लैस्टर किया गया है वास्तव में वह मंदिर के खंभे है और उनका फिर से इस्तेमाल कर के मस्जिद को बनाया गया है

32 से भी ज्यादा प्रमाण

रिपोर्ट के मुताबीत जो खंभे मिले है उसमे कमाल सहित अन्य तरह के हिन्दू धर्म के एक मंदिर में जो भी चिन्ह होता है वो निशान मिले है और इतना ही नहीं उन निशानों और प्रतीकों को मिटा कर तोड़कर खराब करने की कोशिश की गई है ।

जांच के दौरान यह पता चला है की 34 ऐसे स्ट्रक्चर और 32 ऐसे साक्षी मिले है जो स्पष्ट तौर पर यह बता रहे है की यंहा पर पहले से ही हिन्दू मंदिर मौजूद था । साथ में ये भी बतया गया है की इस मस्जिद में कुछ ऐसे स्ट्रक्चर मिले है जहा पर देवनागरी, ग्रंथ, टेलगु और कन्नड के मंत्र लखे हुए है ।

ASI के रिपोर्ट में यह भी बताया गया है की ईस्ट हिस्से में कुछ स्ट्रक्चर बनाए गए है, जो अंदर पिलर्स मिले उन्मे हिन्दू मंदिर के स्ट्रक्चर मौजूद है जो पहले मंदिर के पिलर्स तहखाने में है उसको दूबरा से रियूज करके बेस बनाने का काम किया गया है ।

पॉइंट नंबर 20 में औरंजेब का भी जिक्र किया गया है जिसमे लिखा है की काफिरों के मंदिरों की ऐसे स्थानों को तोड़ गिराव और उसके बाद औरंगेब के अधिकारियों ने ऐसा ही किया सभी हिन्दू देवी देवता के मंदिर को तोड़ना और गिरना शुरू कर दिया ये एक बुक “मास्टर अलंगीरी” में साफ साफ लिखा हुआ है ASI ने रिपोर्ट में ये भी दिखाया है ।

आप इसए भी पढे : क्यू बार-बार राम मंदिर को मिले रहे है धमकी 57 इस्लामिक देशों ने क्या कहा ?

Telegram Group Join Now
Instagram Group Follow Us

1 thought on “Gyanvapi mosque: ऐसा क्या मिला ज्ञानवापी मस्जिद में की पूरी दुनिया में खलबली मच गए, ASI के रिपोर्ट में ऐसा क्या है जानिए पूरी खबर ।”

Leave a Comment