Indian Army Day 2024: क्या है इंडिया आर्मी का इतिहास और महत्व, जानिए ।

Indian Army Day 2024: भरतिए सेना अग्रिम पंक्ति के योद्धा है जो दुश्मनों के हमले से देश की रक्षा लिए सीमाओ पर लड़ते हुए अपने जीवन का वलीदान देते हैं । भारतीय सेना दिवस हर साल 15 जनवरी को मनाया जाता है । इस साल हम 76वां सेना दिवस मना रहे है , यह दिन ब्रिटिश सेना पर भारतीय सेना की जीत की याद में मनाया जाता है ।

Indian Army Day 2024

15 जनवरी 1949 को फील्ड मार्शल के. एम. करिअप्पा भारतीय सेना के पहले कमांडर-इन-चीफ जनरल फ्रांसिस बुचर से अधिकार ले लिया । इस वर्ष भारतीय सेना दिवस लखनऊ, उत्तर प्रदेश में मनाया जाएगा, सेना दिवस के विशेष अवशर पर, अधिकारी उच्च गणमान्य व्यक्तियो की उपस्थिति में परेड करेंगे और इसकी सलामी भारतीय सेना प्रमुख लेंगे ।

लखनऊ में होंगे परेड

इस वर्ष सलामी भारतीय सेना के बर्तमान कमांडर-इन-चीफ जनरल मनोज पांडे लेंगे । हर साल परेड दिल्ली छावनी के कारियप्पा परेड ग्राउन्ड में आयोजित की जाती थी लेकिन इस साल इसे देश की राजधानी के बाहर मनाया जाएगा, ताकि अधिक से अधिक लोग इसमे शामिल हो सके और सेना के जवानों के योगदान से प्रेरित हो सके ।

सेना दिवस देश के युवाओ में दशभक्ति को बढ़ावा देने के लिए एक प्रेरण के रूप में भी काम करता है । अमेरिका, रूस और चीन के बाद भारतीय सेना दुनिया की चौथी सबसे मजबूत ताकत है ।  

 Indian Army Day 2024: “थीम”

भारतीय सेना दिवस 2024 का विषय “राष्ट्र की सेवा में” है । 2024 की थीम सेना के मुख्य सार पर केंद्रित है । इससे यह तथ्य भी उजागर होता है की हमारे देश के सैनिक अटूट संमपर्ण, प्रतिबद्धता और व्यासईकता के प्रतीक है । इस वर्ष की थीम भी भारतीय सेना के आदर्श वाक्य, “स्वयं से पहले सेवा” से मिलती जुलती है । इसका मतलब यह है की सेना के अधिकारी हमेशा राष्ट्र की सुरक्षा को प्रातमिकता देते है और युवाओ को राष्ट्र के प्रति प्रेम और सम्मान रखने के लिए प्रेरित करते है ।

Indian Army Day 2024: “महत्व”

भारतीय सेना दिवस को भारतीय सेना दिवस के नाम से भी जाना जाता है । अधिकारियों की वीरता और सेवा का सम्मान करने के लिए एक भव्य उत्सव का वादा करता है । यह देश के युवाओ में भारतीय सेना में शामिल होने और निस्वार्थ भाव से देश की सेवा करने के लिए जागरूकता और उत्सव फैलाने के लिए समर्पित दिन साबित होता है ।

सेना दिवस देश को दुश्मनों के अवैध आक्रमण और हमलों से बचाने के लिए भारतीय सेना के बलिदान और समर्पण की सराहना करने के लिए समर्पित है ।  यह सैन्य-नागरिक बंधन को सूदढ़ करने के लिए एक कार्यक्रम के रूप में भी कार्य करता है ।

Indian Army Day 2024: “इतिहास”

भारतीय सेना की स्थापना 1 अप्रैल 1895 को अंग्रेजों द्वारा की गई थी । प्रारंभ में भारतीय सेना को रॉयल इंडियन आर्मी के नाम से जाना जाता था । 15 अगस्त 1947 को जब भारत को आजादी मिली, फिर 15 जनवरी 1949 को भारत के पहले कमांडर-इन-चीफ जनरल के. एम. करिअप्पा ने ब्रिटिश सेना के आधिकारिक जनरल सर फ्रांसीसी रॉय बुचर का शासन संभाला । तब से इस ऐतिहाशिक क्षण को भारतीय सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

भारत इस भव्य दिन को बड़े ही उत्साह और देशभक्ति के साथ मनाने की परंपरा का पालन कर रहा है। 15 जनवरी 1949 से भारत रक्षा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर हो गया है ।

Indian Army Day 2024
——–Indian Army Day 2024——-

Some Quotes

  1. “हम जीतने के लिए लड़ते है और नाकआउट से जीतते है क्योंकि युद्ध में कोई उपविजेता नहीं होता” -जनरल जे जे सिंह ।
  2. “अगर मौत आ जाए, तो अपना खून साबित करने से पहले, मैं कसम खाता हु की मै मौत को मार डालुंगा ” – कप्तान मनोज कुमार पांडे ।
  3. “इतिहास में कोई भी वास्तविक परिवर्तन चर्चाओ से काभी हासिल नहीं हुआ है ।” -सुभाष चंद्र बॉस ।
  4. “या तो मैं तिरंगा (भारतीय ध्वज) फहराकर वापस आऊँगा, या तो उसी तिरंगा में लिपटा चला आऊँगा, लेकिन मैं आऊँगा जरूर ।” – कप्तान विक्रम बत्रा ।
  5. “मैं एक इंच भी पीछे नहीं हटूँगा बल्कि अपने आखिरी आदमी और आखिरी दौर तक लड़ूँगा ।” – मेजर सोमनाथ शर्मा ।

आप इसे भी पढे : BSEB ने जारी किया मैट्रिक 2024 के ऐड्मिट कार्ड ऐसे करे चेक ।

Telegram Group Join Now
Instagram Group Follow Us

1 thought on “Indian Army Day 2024: क्या है इंडिया आर्मी का इतिहास और महत्व, जानिए ।”

Leave a Comment