Manoj Dey यूटूबर मनोज दे पहुचे प्रेमानंद महाराज के पास, जानिए क्या पूछे बाबा से मनोज दे ने ।

महशूर यूटूबर Manoj Dey काथा वाचक बाबा प्रेमानंद महाराज जी के पास पहुचे बाबा से पूछे सवाल जिसके बाद महाराज जी ने मनोज दे को दिया सही दिशा । मनोज दे के द्वारा पूछे गए सवाल का जवाब महाराज जी ने ऐसे दीये की मनोज दे के साथ पूरी दुनिया का मिल गया उनका जवाब आइए जानते है इस खबर में की ऐसा क्या पूछे मनोज दे महाराज जी से ।

कौन है मनोज दे ?

मनोज दे के बारे में हम बात करे तो मनोज दे एक मशहूर यूटूबर है जो अपने यूट्यूब चैनल टेक और यूटूबर बनने का तरीका बताते है और ये अपने यूट्यूब चैनल पर लोगों को अनलाइन पैसा कमाने का तरीका भी बताते है ।

Manoj Dey
——Manoj Dey First Video Image——

Manoj Dey के यूट्यूब चैनल पर लगभग 5 मिलियन के आस पास सब्स्क्राइबर है, मनोज दे अपने यूट्यूब के कमाई से आज वो सभी सपने पूरे कीये है जो वो देखे थे मनोज दे बताते है की वो कैसे जब उनके पास कुछ नहीं था तो दूसरे के घर जाके विडिओ बनाया करते थे और उसको यूट्यूब पर डालते थे, आपको बता दे की मनोज झारखंड के रहने वाले है ।

Manoj Dey पूछे महाराज जी से सवाल

इन दिनों यूटूबर मनोज दे को मशहूर काथा वाचक प्रेमानंद महाराज जी के दरबार में देखा गया, जहा वो महाराज जी से एक सवाल पूछते नजर आए की महाराज जी “राधे राधे महाराज जी मैं यूट्यूब पर लोगों को सोशल मीडिया के बारे में सिखाता हु और लोगों को अनलाइन पैसा कमाने के लिए मोटिवेट भी करता हु महाराज जी मेरा यह प्रश्न है की OVERTHINKING से कैसे बचे, किसी चीज को लेकर बहुत ज्यादा सोचता हु” क्रप्या मार्ग दर्शन करे मनोज दे ने प्रेमानंद महाराज जी से पूछा ये सवाल जिसके बाद महाराज जी ने उन सभी लोगों को भी इस सवाल का जवाब दिया आइए जानते है क्या बोले बाबा जी ।

क्या बोले महाराज जी Manoj Dey को

प्रेमानंद जी महाराज ने इस सवाल का जवाब इस तरह दिया जिसके बाद बहुत से लोगों को इस सवाल के जवाब मिल गया महाराज जी ने कहा की “बच्चा परम विश्राम जब तक मन को नहीं मिलेगा तब तक ये मन सांत होने वाला नहीं चाहे आप सौ करोड़ रुपया भी रोज कमाने लगे, चाहे आप लाखों हजरों विषयों भोग रोज भोगने लगे तो भी आपकी OVERTHINKING रुकने वाली नहीं है” जैसे पहले सौ रुपये की मांग फिर हजार रुपये फिर एक लाख की मांग करोड़ अरब ये बढ़ती चले जाएगी इसकी पूर्ति नहीं होती काभी, आज तक किसी की नहीं हुई इसमे इतिहास साक्षी है ।

उसी को पूर्ति होती है जिसको अध्यातम का ज्ञान हो जाता है उसके अंदर ये बर्ती आती है इसमे हम अपने विचरो पर सासन कर सकते है हम अपने मन को सांत कर सकते है वो रुपया नहीं होता है वो भोग सामग्री नहीं होती है वो अध्यातम होता है । जैसे आपका मन कर रहा है की ये शरीर भोगने को मिल जाए और उस शरीर को कोई भोग रहा है या आपको ही मिल जाए तो कुछ ही दिन बाद आपका मन करेगा की अब कोई और शरीर ऐसे ही कोई और कोई और चलते चल जाएगा ।

OVERTHINKING ये सोच आपका बढ़ती ही चली जाएगी काभी रुकने वाली नहीं है ये रुकेगी तो एक मात्र श्री भगवान का आश्रय लेकर अध्यातम ज्ञान नाम जप पर, नाम जप नहीं हो रहा तो चाहे जितना धन कमा लीजिए जितनी भोग समग्री पा लीजिए आपका ये सोच नहीं रुकने वाली है ।

महाराज जी ने Manoj Dey के इस सवाल के जरीय सबको उनके इस सवाल का भी जवाब मिल गया जो अपने जीवन काल में खूब पैसा कामना और खूब शुख भोगने की सोच रहे है महाराज जी का कहना है की आप वो सब कुछ कीजिए लेकिन भगवान का भी नाम जप और भगवान का श्रय में रही तब जाके आपके मन को सन्ति मिलेगी ।

इसे भी पढे: किसान आंदोलन कर रहे एक 22 वर्ष की युवा कैसे जान गई जिसके बाद भड़के किसान ।

Telegram Group Join Now
Instagram Group Follow Us

1 thought on “Manoj Dey यूटूबर मनोज दे पहुचे प्रेमानंद महाराज के पास, जानिए क्या पूछे बाबा से मनोज दे ने ।”

Leave a Comment