Sarswati River: आखिर कहाँ गायब हुई महान सरस्वती नदी, जानने के लिए पूरा पढ़ें |

Sarswati River

Sarswati River: सरस्वती नदी को वेदों में सबसे महान नदी का दर्जा दिया गया है, ऋग्वेद में उल्लेख पाया जाता है की सरस्वती नदी की धारा सबसे तेज और सबसे उफान में  रहने वाली थी ।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की ये वही सरस्वती नदी है जिसके किनारे आज से लगभग 5 हजार साल पहले द्वापर युग में महाभारत का युद्ध लड़ा गया था, लेकिन आज उस नदी का निशान भी देखने को नहीं मिलता है ।

आज सरस्वती नदी की जगह पर कहीं केवल उसके बहने के मार्ग दिखते हैं , तो कहीं सिर्फ उसके अवशेष मिलते हैं ।

लेकिन यहीं पर कुछ अनुशोध कर्ता का कहना यह भी है की आज भी सरस्वती नदी बहती है लेकिन पूरी दुनिया से छिपकर बहती है, तो फिर आखिर क्यूँ विलुप्त हो गई या फिर यूं कहे की कहाँ सुख गई सरस्वती नदी, और कैसे मिट गया वजूद भारत की सबसे महान नदियों में से एक सरस्वती नदी का ।

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हर 12 साल में दुनिया की सबसे बड़ी महा कुम्भ मेल का आयोजन होता है ।

प्रयाग का मतलब होता है संगम यानी की मिलन, क्योंकि यहाँ दो नदियों का मिलन या यूं कहें की दो नदियों का संगम होता है, इन दो नदियों में से एक नदी का नाम है गंगा, और दुसरी की यमुना ।

लेकिन कहा जाता है की प्रयागराज में गंगा और यमुना के अलावा एक तीसरी नदी भी मिलती है, लेकिन अदृश्य नदी ।

Sarswati River
——Sarswati River——

इंडस, व्यास नदी , सतलज नदी , गंगा नदी , रावी नदी और झेलम जैसी नदियां आज भी भारत की इस पावन धरती पर मौजूद है, तो महान सरस्वती नदी क्यूँ नहीं बच पाई ?

भगवान परशुराम और सरस्वती नदी |

वेदों में कहा जाता है की जब भगवान परशुराम नें धरती पर से 21 बार अत्याचारियों का सर्वनास करने के बाद पवित्र सरस्वती नदी में ही स्नान किया था, और जब महाभारत का युद्ध जीतने के बाद पांडव स्वर्ग की यात्रा में हिमालय की तरफ निकलते हैं तो उनका सामना एक विशाल नदी से होता है जो की सरस्वती नदी ही होती है ।

कहा जाता है की सरस्वती नदी हिमालय के गोद से निकल कर हरियाणा से होते हुए पंजाब के रास्ते से राजस्थान के थार रेगिस्तान से निकलने के बाद गुजरात के कक्ष में जाकर मिल जाती थी ।

इसे भी पढे: भोजपुरी कॉमेडिया यूटूबर झगरु महतो को मिल एक और बाद धोखा

Telegram Group Join Now
Instagram Group Follow Us

1 thought on “Sarswati River: आखिर कहाँ गायब हुई महान सरस्वती नदी, जानने के लिए पूरा पढ़ें |”

Leave a Comment